Bihar Se Tihar: Meri Raajnitik Yatra

(1 customer review)

Compare

जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार फरवरी 2016 में राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार कर लिए गए। उन्हें तिहाड़ जेल में रखा गया और पटियाला हाउस कोर्ट में वकीलों ने उन्हें पीटा। इस संकट से वे एक युवा राजनीतिक सितारा बन कर उभरे, जिसे बीबीसी ने भारत का एक ऐसा छात्र बताया, जिससे लोगों ने एक ही साथ सबसे ज्यादा प्यार भी किया और नफरत भी। यह किताब बिहार के एक गांव के उनके बचपन से शुरू होकर दिल्ली में उन्हें अचानक सुर्खियों में आने तक की कहानी है, जिसमें जेल में बिताए गए उनके दिनों की दास्तान भी है। बिहार से तिहाड़ दिलचस्प और मज़ेदार है और कन्हैया कुमार की हाजिरजवाबी से भरपूर है।

238.00

कन्हैया कुमार 2015-2016 में जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष थे। वे एआईएसएफ के कार्यकर्ता हैं और जेएनयू स्थित स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज़ के सेंटर फॉर अफ्रीकन स्टडीज़ से पीएचडी कर रहे हैं।

  • Paperback: 256 pages
  • Publisher: Juggernaut Books; First edition (15 November 2016)
  • Language: Hindi
  • ISBN-10: 9789386228024
  • ISBN-13: 978-9386228024
  • ASIN: 9386228025
  • Package Dimensions: 19.8 x 12.8 x 2 cm

Based on 1 review

5.0 overall
1
0
0
0
0

Add a review

  1. Lalit bose

    Nice kahnahiya ji red salute

    Lalit bose